Stock Trading क्या होते हैं ? Trading के प्रकार

Stock Trading क्या होते हैं :

दोस्तों आज हम इस पोस्ट पोर दखेंगे के stock market मैं  trading  क्या होते है ? और  कितने प्रकार  हैं ?
   TRADING का हिंदी अर्थ व्यापार होता है ,इसका मतलब कुछ वस्तु या फिर सेवा को लाभ कमाने के उद्देश्य में बेचना या खरीदना होता है
                 जब हम कोई बस्तु या सेवा इसी उद्देश्य से खरीदते है कि उस वस्तु और सेवा को कुछ समय बाद बेच कर हम उस से लाभ कमाएंगे तो इस कार्य को “TRADING” कहा जाता है, जैसे normal market  मैं भी कारबार यानि trading का मतलब इसतरह होते हैं  shopkeeper (दुकानदार )  लाभ  कमाने की उद्देश्य में कुछ सामान खरीदके अपने पास रखते हैं, और customer को  थोड़ा ज्यादा भाव पर बेच के मुनाफा कमाते हैं.

 Stock Market मैं Trading:
तो हमने देखा trading का  मतलब कुछ वस्तु या फिर सेवा को लाभ कमाने के उद्देश्य में बेचना या खरीदना होता है,ठीक इसतरह stock market  मैं जब हम कुछ profit  कमाने के उद्देसे किसी company की shares / stock को खरीद के  अपने अकाउंट रखते  हैं और जब उस comapny की share price  बढ़ जाते हैं तब उस shares  को बेच देते हैं। 
        stock market में इसतरह  प्रॉफिट कमाने के उद्देश्य किसी कंपनी का शेयर को खरीदना और बेचना, इस प्रोसेस को स्टॉक मार्केट की trading कहलाता है
स्टॉक मार्केट में Trading कितने प्रकार की होती है ?
stock market मैं हम लोगो को trading और investing शब्द सुनने को मिलता है,trading ज्यादा risky  होता हैं investing की comparison मैं. TRADING करने वाला व्यक्ति हमेशा मौके के इन्तेजार में रहता है और जैसे ही उसे सही मौका दिखता है, वो अपने सौदे को बेच कर लाभ कमा लेता है,
              अब देखेंगे trading की कुछ मुख्य प्रकार –

  • intraday trading:

   intraday trading एक ऐसे TRADE जो एक दिन के अन्दर ही  सौदा पुरे कर लिए जाते है, यानी SHARE या STOCK उसी दिन(same day ) खरीद कर उसी दिन बेचने के कार्य को इंट्रा डे ट्रेडिंगय(day Trading) कहा जाता है, जैसे -सुबह 9:15am पे MARKET खुलने के बाद स्टॉक खरीदना और उसी दिन शाम 3.30pm पे MARKET  बंद होने से पहले आप उसे बेच  बेच देते हैं चाहे उसमें आपका loss हो या  profit हो आप उसको ओवरनाइट होल्ड(overnight hold) नहीं कर सकते, इस तरह की TRADING में STOCK HOLD करने का टाइम कुछ घंटो में होता है,


                                    इस तरह की TRADING के लिए BROKER कंपनिया आपको आपके पास उपलब्ध रकम के दस से बीस गुना ज्यादा मार्जिन देती है, 
  • स्वींग ट्रेडिंग (SWING TRADING):

 दोस्तों स्विंग ट्रेडिंग (swing trading )  उसे कहते हैं जब हम किसी शेयर को आज खरीद के कुछ दिन रखने के बाद उसे बेचते  हैं ,कुछ दिन या फिर कुछ हफ्ता या फिर कुछ महीने (3 month )भी हो सकते हैं

              
                     जब किसी शेयर या स्टॉक को खरीदने के बाद, अगर उसे कुछ दिन के बाद बेचा जाये, तो जितने समय कोई स्टॉक हमारे पास रहता है, वो उस स्टॉक का होल्डिंग पीरियड कहलाता है,


यानी  शेयर खरीदने के बाद जितने समय तक हम उसे नहीं बेचते है, वो समय उस शेयर का होल्डिंग पीरियड टाइम होता है,

और अगर आपका “स्टॉक होल्डिंग पीरियड” ,कुछ  दिनों से लेकर कुछ सप्ताह तक का है, तो इस तरह के WEEKLY , या MONTHLY HOLDING PERIOD में की जाने Trading को, स्वींग ट्रेडिंग कहा (Swing Trading) जाता है
  • SHORT TERM TRADING:

दोस्तों शॉर्ट टर्म ट्रेडिंग का मतलब आप अगर आज शेयर को आज खरीद के शार्ट  टाइम पीरियड  के अंदर उस share  को बेच देते हैं ,सौदा कर लेते हैं, तो उस सिस्टम को short term trading सिस्टम को कहते हैं .

        short term trading पर जो holding period होते हैं वह short यानि  छोटा होते हैं.  कुछ दिन से लेकर कुछ हफ्ते ,3 महीने या फिर 6 महीने तक होते हैं.
शॉर्ट टर्म ट्रेडिंग, एक एक्टिव शो इन्वेस्टमेंट है, जेम मार्केट और अपने इन्वेस्टमेंट पेवेट रखनी है, और जैसे ही आपका टारगेट प्राइस मिलता है, आप कर क्लोज कर लेना चाहिए,
  • लॉन्ग टर्म ट्रेडिंग(Long term trading):

long term trading को आप  long term investing भी कह सकते है.जब आप किसी कंपनी की stock/share को खरीद के लंबे समय तक होल्ड करके रखते हो तब उसे लॉन्ग टर्म इन्वेस्टिंग यानी लॉन्ग टर्म ट्रेडिंग कहा जाता है .Long Term Investing से हमारा मतलब, स्टॉक मार्केट में ट्रेड करने की उस तरीके से है, जिसमे कोई निवेशक कोई स्टॉक 6 महीने से लेकर कुछ सालो तक होल्ड करके रखते हैं और जब  मन चाहे तब उसे आप sell  यानी बेच सकते हैं.


                   लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट risk free माना जाता है शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट की comparison में .स्टॉक मार्केट के King कहे जाने वाले चाहे Warren  ,Rakesh Jhunjhunwala दोनों भी इसी तरह के लम्बे समय की ट्रेडिंग और इन्वेस्टिंग में विस्वास रखते है,
और भी डिटेल्स में जानिए यह मुख्य चार ट्रेडिंग प्रकार(types of trading )  के बारे में:
  1. इंट्रा डे ट्रेडिंग(Intra Day Trading)
  2.  स्विंग ट्रेडिंग(Swing trading)
  3.  शॉर्ट टर्म ट्रेडिंग(Short term trading)
  4.  लॉन्ग टर्म ट्रेडिंग(Long term trading)  

               [अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो कृपया इसे फेसबुक एंव अन्य सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें| आपका यह प्रयास हमें और अच्छे लेख लिखने के लिए प्रेरित करेगा|

यदि आपके कोई प्रश्न हैं, तो कृपया टिप्पणी अनुभाग पर लिखें।]   

To Open Account Just click Bellow-

Zerodha     Upstox     5paisa 
download%2B%25285%2529
+918116860169

Subscribe My youtube channel For Video Tutorial:

youtube-2433301__340
⬑tech & finance➤➤Click Here

⬑knowledge world➤➤Click Here
======================================

   


This Post Has 3 Comments

  1. Unknown

    Very useful information given by you

Leave a Reply